25 अनमोल विचार स्वामी विवेकानंद के जीवन से सीखे In Hindi - Smart Way

Latest

Become Successful, Be Entrepreneur, Start Make Personality Development, Be Smart Worker Not Hard Worker, Make Your Study Better, Learn Study Tips, Smart Way

Saturday, March 28, 2020

25 अनमोल विचार स्वामी विवेकानंद के जीवन से सीखे In Hindi


नमस्कार दोस्तों आज हम आपको स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda Quotes In Hindi) के जीवन से कुछ महत्वपूर्ण विचारो (Swami Vivekananda Thoughts In Hindi) को आपके सामने बताने जा रहे है। यहां हम उनके विचारो को सम्पूर्ण रूप से व्यक्त करेंगे। लेकिन उससे पहले हम स्वामी विवेकानंद के जीवन (Swami Vivekananda Biography In Hindi) के बारे में जान लेते है।



(Swami Vivekananda Biography In Hindi) इनका पूरा नाम नरेन्द्रनाथ विश्वनाथ दत्त था और घर में इनको प्यार से नरेन्द्रे और नरेन बुलाया जाता था। इनका जन्म पश्चिम बंगाल के कोलकाता में हुआ था। इन्होने आपका पूरा जीवन अकेले ही बिताया था मतलब इन्होने विवाह नहीं किया था। स्वामी विवेकानंद को आधुनिक वेदांत और राज योग का फिलॉस्फर माना जाता है। स्वामी विवेकानंद के अपने सम्पूर्ण जीवन में "न्यूयॉर्क में वेदांत सिटी की स्थापना, कलिफ़ोर्निया में शांति आश्रम और भारत में अल्मोड़ा के पास अद्वैत आश्रम की स्थापना" की।

स्वामी विवेकानंद के जीवन में कई कथन थे लेकिन सबसे ज्यादा प्रभवित करने वाला कथन था की "उठो, जागो और तब तक मत रुको जब तक लक्ष्य की प्राप्ति न हो जाये"

४ जुलाई १९०२ को बेलूर, पश्चिम बंगाल, भारत में इनकी मृत्यु हो गयी।

तो चलिए अब जानते है स्वामी विवेकानंद के वो विचार(Swami Vivekananda Anmol Vichar In Hindi) जिनके लिए जाने जाते है।

25 स्वामी विवेकानंद के जीवन के विचार | Swami Vivekananda Motivational Thoughts In Hindi | Motivational Quotes In Hindi


Thoughts 1: जैसा आप खुद के बारे में सोचते हो वैसे ही आप बन जाते हो। यदि आप सोचते हो की में निर्बल हूँ तो आप निर्बल है और यदि आप सोचते हो की में शक्तिशाली हूँ तो आप शक्तिशाली हो। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 2: अपने आप को दुसरो से निर्बल समझना सबसे बड़ा पाप है। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 3: जो ज्ञान आप खुद को दे सकते हो वो ज्ञान आपको कोई नहीं दे सकता है। इसलिए आपको सब कुछ अपने अंदर से सीखना होगा। याद रखिये आपकी आत्मा से अच्छा शिक्षक कोई नहीं है। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 4: एक सत्य को आप हजार तरीको से बता सकते है फिर भी उस सत्य का अर्थ एक ही होगा। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 5: जो आपके अंदर के गुण होते है वो ही आपके बोलने के तरीके को दर्शाते है। - स्वामी विवेकानंद


Thoughts 6: यदि कभी आपको दिल और दिमाग दोनों में से किसी एक की बात सुननी पड़े तो हमेशा दिल की बात को ही आप सुने। ये स्वामी विवेकानंद का कहना है। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 7: जिस दिन आपको अपने किसी लक्ष्य में समस्या का सामना करना न पड़े उस दिन समझ लेना की आप गलत लक्ष्य की पीछा कर रहे हो। मतलब आप गलत रास्ते पर हो। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 8: एक समय में एक ही लक्ष्य बनाओ, और अपनी शरीर की सारी ऊर्जा उस लक्ष्य को प्राप्त करने में लगा दो। और बाकि सारे काम भूल जाओ। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 9: तब तक सीखना न छोडे जब तक जीवन है। क्योकि हमारे जीवन के अनुभव ही हमारे सबसे अच्छे शिक्षक होते है। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 10: जब तक आप अपने आप पर विश्वास नहीं कर लेते हो तब तक आप भगवन पर भी विश्वास नहीं कर सकते। - स्वामी विवेकानंद


Thoughts 11: वही अग्नि हमें नष्ट नहीं कर सकती है जो हमें गर्मी देती है लेकिन यहाँ दोष अग्नि का नहीं होता बल्कि हमारा होता है की हम उसको कैसे उपयोग में लेते है। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 12: हमारी सोच ही हमारा निर्माण करती है इसलिए ये जानना बहुत जरुरी है की हम क्या सोचते है। हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए की हमें क्या सोचना है और क्या नहीं। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 13: जिस चीज का आपको त्याग करना है उसका त्याग आपको करना चाहिए और उसके बारे में कुछ नहीं सोचना चाहिए। क्योकि जिस का आपने त्याग किया है वो आपके पास वापस जरूर आएगा लेकिन उसमे कुछ समय लगेगा। - स्वामी विवेकानंद



Thoughts 14: जो भी आपको शारीरिक और मानसिक रूप से हानि पहुँचता है उस आपको जहर की तरह त्याग देना चाहिए। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 15: कभी किसी की निंदा नहीं करे। यदि आप किसी की मदद कर सकते है तो जरूर करे। यदि आप उसकी मदद नहीं कर सकते हो तो आप उसको उस काम की सफलता के लिए आशीर्वाद दे सकते है। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 16: खुद पर विश्वास, अधिक विस्तार से ज्ञान और अधिक अभ्यास इन तीनो पर अधिक ध्यान दिया जाये तो हमारे दुःखों का काफी हिस्सा समाप्त हो जायेगा। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 17: यदि आप को कोई सत्य बताना है तो उसको निर्भय होकर दुसरो से कहो बिना इस बात की चिंता किये की उस पर या हम पर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा। क्योकि गलत का हमे कभी साथ नहीं देना चाहिए और सत्य कभी छुपाना चाहिए। क्योकि जब आप एक सत्य को छुपाते हो तो उसको छुपाने के लिए और असत्य का सहारा लेना पड़ता है। जोकि हमारे लिए और ज्यादा चिंता का विषय बन जाता है। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 18: अपने काम के लिए दुसरो पर निर्भर रहना बुद्धिमानी का कार्य नहीं है। बुद्धिमान तो वो होता है जो व्यक्ति अपने ही पेरो पर खड़े होकर अपने कार्य को पूरी दृढता से करे। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 19: इस दुनिया में यदि आप अच्छा काम करेंगे तो सब आपको अनदेखा करने लगेंगे लेकिन जैसे ही आप कुछ गलत कर जाते हो अपने काम में तो सारी दुनिया आपके काम में गलतिया निकलने आ जाएगी। इसलिए अपने काम से काम रखो जो भी काम करो पुरे विश्वास के साथ करो। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 20: अपने भविष्य का चिंतन करो लेकिन चिंता कभी न करो। बस हमेशा नए विचारो की खोज करो। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 21: ये विश्व एक बहुत बड़ी व्यायामशाला है जहाँ हम सिर्फ इसलिए आते है ताकि हम अपने आपको मजबूत बना सके। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 22: जिस तरह सभी नदियों का जल अंत में समुद्र में जाकर मिलता है ठीक उस ही तरीके से आपके द्वारा चुने हुए मार्ग भी आपको भगवान तक पहुंचाते है। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 23: आप तब तक भगवान को प्राप्त नहीं कर सकते जब तक आपको हर मनुष्य में भगवान नहीं दिख जाता। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 24: आप जितना ज्यादा लोगो की मदद करेंगे और उनका भला करेंगे आप उतने ही ईश्वर के करीब हो जायेंगे। - स्वामी विवेकानंद

Thoughts 25: उठो, जागो और तब तक मत रुको जब तक आपको अपने लक्ष्य की प्राप्ति न हो जाये। - स्वामी विवेकानंद

No comments:

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box