क्या आप जानते है की जीवन क्या है। What Is Life In Hindi - Smart Way

Latest

Become Successful, Be Entrepreneur, Start Make Personality Development, Be Smart Worker Not Hard Worker, Make Your Study Better, Learn Study Tips, Smart Way

Friday, February 28, 2020

क्या आप जानते है की जीवन क्या है। What Is Life In Hindi

जीवन क्या है(What Is Life In Hindi) कभी आपने सोचा है और हमें इसको किस तरह जीना चाहिए। जीवन क्या है (Jeevn Kya Hai) इसको लेकर सबके अंदर अलग अलग विचार है और ये जितने भी विचार है वो सब अपने खुद के जीवन के अनुभव पर देते है लेकिन फिर भी यहाँ पर कुछ तथ्य है जो जीवन की परिभाषा(Definition Of Life In Hindi) को बिलकुल बदल देती है।



जैसा की मैंने कहा की जीवन को लेकर सबके अलग अलग विचार है और ये विचार उनके सवयं के जीवन के अनुभव पर होते है लेकिन सबके अनुभव उनके विचारो पर निर्भर करते है। जिसकी जैसी सोच होगी वैसी ही उसके लिए जीवन की परिभाषा होती। और जो ये सोच है वो आप तो जानते ही है की दो प्रकार की होती है सकारात्मक और नकारात्मक।

अब यहाँ जिस मनुष्य की सोच सकारात्मक(Positive Thought) होगी उसके लिए जीनव का अनुभव भी सकारत्मक ही होगा और जिस मनुष्य की सोच नकारात्मक(Negative Thought) होगी उसके लिए जीवन का अनुभव भी नकारात्मक ही होगा जिससे जीवन को लेकर परिभाषा भी नकारात्मक होगी।


जीवन की परिभाषा(Definition Of Life In Hindi) तो वैसे हम ने बहुत बार सुनी है और सभी लोगो ने इसकी अलग अलग परिभाषा दी है लेकिन जीवन की सबसे सही और सटीक परिभाषा हमें श्री कृष्ण ने दी है जोकि उन्होंने गीता के माद्यम से पुरे विश्व को बताया है। तो चलिए जानते है गीता में श्री कृष्ण ने जीवन की परिभाषा क्या दी है।


जीवन क्या है। जीवन की परिभाषा  | What Is Life In Hindi | Definition Of Life In Hindi


हम सब के जीवन में कभी कभी कोई कोई बड़ी या छोटी घटना घटती है और हम उस घटनाओ को चाह कर भी नहीं भुला पाते है। हम बस उन सब घटनाओ को लेकर परेशान होने लगते है और ये घटना आगे हमारे साथ हो इसके लिए हम भविष्य के लिए योजना बनाने लग जाते है।





हम हमेशा जो बीत गया और जो आने वाला है उसके बारे में सोचते है और आज को हम भूल जाते है। श्री कृष्ण ने इस आज को ही जीवन बताया है। हम हमेशा जो बीत गया और जो आने वाला है उसके बारे मे सोचने के चक्कर में आज का अनुभव करना भूल जाते है।

आज के दिन का अनुभव ही जीवन होता है। वर्तमान समय का जो अनुभव होता है वही जीवन की परिभाषा है। अब यहाँ विचार आपको करना है की आप अपने आज को कल क्या हुआ था और कल क्या होगा इन बातो को याद कर के परेशान होना है या फिर जो अभी आपके सामने है उसका आनंद लेना है।



लेकिन अब यहाँ ऐसा नहीं है की आपको अपने भविष्य के बारे में सोचना बिलकुल बंद करना है आप अपने भविष्य के बारे में सोच भी सकते है और योजनाये भी बना सकते है लेकीन आपको उसके बारे में सिर्फ सोचना है उनको लेकर फ़िक्र नहीं करनी है।





हमेशा आपको वर्तमान में जीना चाहिए। क्योकि वर्तमान ही आपको असली जीवन का अनुभव करवाता है और आप वर्तमान में कैसे जी सकते है इसके लिए भी हम आपको कुछ टिप्स देंगे।


वर्तमान में कैसे जीये | How To Live In Present In Hindi



दोस्तों हम आपको वर्तमान में जीने(Live In Present In Hindi) का सिर्फ एक तरीका बतायेगें वो ही सबसे अच्छा और बेहरीन तरीका है। इस के अलावा सारे तरीके बेकार है। बस आप एक ये आदत अपने अंदर ले आये तो आप वर्तमान में जीना सीख़ जायेंगे।


जब भी हम कोई काम करते है तो हम काम तो करते है लेकिन उस काम को महसूस नहीं करते है। इसका मतलब ये है की जब आप खाना खाते हो तो आप खाना तो इधर खाते हो लेकिन दिमाग इधर उधर की बाते सोचने में लग जाता है और फिर आप उस भोजन का आनंद नहीं ले पाते है।




आपको ये पता ही नहीं होता की खाना कैसा बना है उसका क्या सुआद है। जब भी आप खाना खाये तो आपका पूरा ध्यान उस खाने में होना चाहिए जैसे आप देख सकते है की आज सब्जी में क्या अलग टेस्ट है जो रोज नहीं होता, सब्जी में क्या क्या सामग्री का उपयोग किया गया है, आप ये भी अंदाजा लगने की कोशिश कर सकते है की आज खाना किसने बनाया और भी बहुत सी बाते है।

इसके अलावा जैसे आप कही घूमने जा रहे है तो आज ये जानने की कोशिश कर सकते है की आज क्या कुछ नया उस जगह पर हुआ जहाँ आप रोज जाते है।





और जैसे आप स्नान कर रहे है तो आप उस समय को अनुभव कर सकते है जिस समय आप अपने उसपर पानी डालते है। इसमें आप ये महसूस कर सकते है की जब हम अपने ऊपर पानी डालते है तो केसा महसूस होता है। आप पानी में तापमान को अनुभव कर सकते है की आज पानी कितना ठंडा है या कितना गर्म है।



या जैसे आप किसी से बात कर रहे हो तो आप उस आदमी के बारे में उस वक़्त जानने की कोशिश कर सकते है जैसे आज उसने क्या पहना है, उसने कोनसा परफ्यूम लगाया है, उसका बोलने का तरीका क्या है, उसकी बॉडी लैंग्वेज क्या है आदि

अब यहाँ इन सब का मतलब ये है की आप को बस उन्ही चीजों के बारे में सोचना है जो उस समय आपके सामने हो।

दोस्तों ये ही बस एक ऐसा तरीका है जिससे आप धीरे धीरे वर्तमान में जीना सीख़ जाओगे और में आपसे आशा करता हु की आप ये अच्छी तरीके से जान गए होंगे की जीवन क्या है(What Is Life In Hindi) और हम इसको कैसे जी सकते है मतलब हम वर्तमान में कैसे जी सकते है।

No comments:

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box