यूजर फ्रेंडली आर्टिकल कैसे लिखे | User Friendly Article In Hindi


हेलो दोस्तों इससे पहले हमने आपको बताया  था की कैसे आप एक SEO FriendlyArticle लिख सकते है। जिस में हमने SEO से Related Factor के बारे में बात की थी। और आज हम आपको बतायेगे हम कैसे एक User Friendly Article लिख सकते है



यदि आप User Friendly Article लिखते है और यूजर को वो अच्छा लगता है तो फिर वो हमेशा आपकी ही वेबसाइट पर आएगा। क्योकि इससे वो यूजर आपकी वेबसाइट को लेकर Loyal हो जाता है। Friends सबसे पहले हम आपको यहाँ ये बतायेगे की इन दोनों में Deference क्या होता है। जिससे आपको ये पता चल जायेगा की आपको ये क्यों करना जरुरी है।

SEO Friendly Article - दोस्तों जब हम एक SEO Friendly Article लिखते है तो हम इसमें पोस्ट को गूगल में रैंक करवाने के लिए उस को Optimize करते है। इसमें हम उन फैक्टर्स पर फोकस करते है जो की हमारी Rank को Effect करती है। जैसे Title कितने Word का होना चाहिए, Description कितने Word और Pixel का होना चाहिए etc.

User Friendly Article - जब की इसमें हम उस Factor पर Focus करते है जो की यूजर के Experience का ध्यान रख कर Article को Write करते है। इसमें हम आपको बताएंगे की कैसे आप एक User Friendly Article लिख सकते है। तो आईये जानते है की कैसे आर्टिकल लिखा जाये।

यूजर फ्रेंडली आर्टिकल कैसे लिखे | How To Write User Friendly Article In Hindi


1: Article Ka Title

सबसे पहले बात करते है की आर्टिकल के टाइटल की जब भी आप अपने Post का Title लिखे तो वो Attractive होना चाहिए ताकि जब भी यूजर गूगल में सर्च करे तो आपके Title को देख कर सबसे पहले आपकी ही पोस्ट पर Click करे।


यदि आप के पोस्ट का टाइटल अच्छा नहीं होगा तो यूजर किसी दूसरे Link पर क्लिक कर लेगा। और आपकी Post Rank करते हुए भी उसपर Traffic नहीं आएगा। जोकि हमारी गूगल रैंकिंग को भी Effect करता है।

2: Search Description

जब भी यूजर गूगल पर आपकी पोस्ट देखता है तो वो सबसे पहले आपकी पोस्ट टाइटल को देखता है और फिर उसके डिस्क्रिप्शन को देखता है। इसलिए आप को अपनी पोस्ट के डिस्क्रिप्शन को सही तरीके से स्टफ करना होगा। जिसमे आपके कुछ कीवर्ड भी हो और यूजर को भी रीड करने पर समझ ने में आये।

इसलिए दोस्तों आपको पोस्ट के टाइटल और उसके डिस्क्रिप्शन पर ज्यादा ध्यान देना होगा।

3: Article ki Size

यूट्यूब और वेबसाइट पर मेने बहुत से Videos और Article देखे है जिसमे वो आपको बताते है की यदि आपको अपनी पोस्ट को जल्दी से रैंक करना है तो 1500 वर्ड, 2000 वर्ड, 2500 वर्ड के पोस्ट लिखना चाहिए। लेकिन में इसको जरुरी नहीं मानता।

यदि आप 900 वर्ड से 1000 वर्ड का भी आर्टिकल लिखते हो तो आपका पोस्ट गूगल में रैंक हो जायेगा। लेकिन यदि आप इससे ज्यादा वर्ड का पोस्ट लिखते है तो फिर वो पोस्ट User Friendly Article नहीं माना जायेगा। क्योकि कोई भी यूजर इतना लम्बा आर्टिकल पढ़ना पसंद नहीं करता उसको Short Article With Full Information वाले पसंद आते है। इसलिए आपको आर्टिकल ज्यादा लम्बा नहीं रखना है।

जिस टॉपिक पर आप आर्टिकल लिख रहे है उसमे 1 ही टॉपिक को Add करे और उसकी Full Information Article में लिखे।

4: Internal Linking

अक्सर हम ये गलती करते है की जब भी हम कोई पोस्ट लिखते है तो उसमे उस पोस्ट रिलेटेड लिंक को ऐड नहीं करते और किसी और टॉपिक से Related Links को Add कर देते है। तो आपको बिलकुल भी नहीं करना है। जैसे मान लीजिये की आप ब्लॉग्गिंग से रिलेटेड पोस्ट लिख रहे है और आपने उस पोस्ट के अंदर Linkडाल दिया की Personal Finance Kya Hota Hai तो ये एक दम सही नहीं है।

यदि आप सही तरीके से Internal Linking करते हो तो यूजर आपकी साइट पर ज्यादा से ज्यादा टाइम तक  रुकेगा।

5: Responsive Ads On Post

जो भी नए ब्लॉगर होते है वो Starting में पैसा कमाने के लिए एडसेंस का अप्रूवल मिलते ही उस पर बहुत से Ads लगा देते है। और पोस्ट के बिच में Ads ही Ads लगा देते है। जोकि यूजर को काफी परेशान करता है इसलिए आपको अपने ब्लॉग और उसकी पोस्ट पर ज्यादा Ads नहीं लगाने चाहिए।

और हमेशा दोस्तों आपको अपने ब्लॉग में Units Ads को ही यूज़ करना है। क्योकि जब हम गूगल के Auto Ads का ऑप्शन का Use करते है तो वो उस जगह पर भी Ads Show करता है जहा हम नहीं चाहते है।

जब की हम Ads Units के माध्य्म से हम अपनी मर्जी से जहा Ads लगाना है वह लगा सकते है। तो दोस्तों आपको सबसे ज्यादा इस बात का ध्यान रखना है।

यदि दोस्तों आपने इन 5 पॉइंट्स को सही से समझ लिया तो आपको एक User Friendly Article लिखने में कोई भी प्रॉब्लम नहीं आएगी।

Post a Comment

0 Comments