व्यक्तिगत वित्त की कुछ सामान्य जानकारी | Personal Finance In Hindi




नमस्कार दोस्तों क्या आपको पता है की हमें जीवन में सफल बनने के लिए कई बातो का ध्यान में होना बहुत जरुरी है। जिसमे से एक बहुत ही जरुरी बात है की हमें अपने द्वारा कमाए गए पैसो की भी समझ होनी चाहिए। यहाँ हमारा मतलब Financial Education से है। क्योकि आप चाहे अपने जीवन में कितना भी पैसा क्यों कमा ले लेकिन यदि आप के अंदर Finance से सम्बंधित जानकारी नहीं यही तो आप उन पेसो को कभी नहीं संभाल पाओगे।

इसलिए आज हम आपके लिए Finance से Related कुछ सामन्य जानकारी लेकर आये है जो की आपको जानना बहुत महत्वपूर्ण है।



व्यक्तिगत वित्त की कुछ सामान्य जानकारी | 4 Basic Finance Knowledge In Hindi



1 Accounting


मान लीजिये की आप एक कंपनी के शेयर खरीदना चाहते है तो आप अब ये कैसे पता करेंगे की उस कंपनी की हालत किसी है मतलब उस कंपनी की वित्तीय स्तिथि किसी है। यदि आपको Accounting की जानकारी नहीं होगी तो आप उस कंपनी की Financial Condition को कभी भी Analyze नहीं कर पाएंगे।




इसलिए आपको Basic Accounting तो आनी ही चाहिए। Financial Education वो Knowledge है जिसकी मदद से आप Financial Statement को समझ पाओगे और पढ़ पाओगे। इस की मदद से आप किसी भी कंपनी की Strength और Weakness को आसानी  Analyze कर पाओगे।



2 Investing


इस को Author ने पैसे से पैसे बनाने का विज्ञान बताया है। आपको अपने पैसे से पैसा बनाना सीखना होगा। क्योकि जितने भी Successful Person है वो अपने पैसो को सही जगह पर Invest करते है और बहुत सारा पैसा कमाते है। इसके लिए आपको जानना होगा की  Share क्या होते है, Mutual Funds क्या होते है और बाजार में ये कैसे काम करते है।




3 Knowledge of Market


इस को Author ने Supply And Demand का विज्ञान बताया है। इसमें हमें बाजार मे होने वाली Technical Activities की जानकारी होनी चाहिए। जोकि भावनाओ द्वारा संचालित होती है। बाजार का दूसरा तत्व निवेश की मूलभूत या आर्थिक समझ है।




हमें बाजार में इस बात का ध्यान होना जरुरी है की बाजार किस तरह से वर्क कर रहा है ताकि हमें पता चल सके की कब हमे Market में Invest करना है और कब Exit करना है।


4 Law


जिस व्यक्ति को Corporation द्वारा दिए जाने वाले Tax के फायदे और सुरक्षा का ज्ञान हो वो व्यक्ति बहुत ज्यादा तेजी से तरक्की कर सकता है और अमीर बन सकता है। जोकि ये किसी छोटे मोटे कर्मचारी या बिज़नेस के मालिक के लिए सम्भव नहीं है।

इसमें इतना ही अंतर है जितना पैदल चलने वाले व्यक्ति और उड़ने वाले व्यक्ति में होता है। ये अंतर बहुत ज्यादा हो जाता है। Corporation का मालिक पहले कमाता है और फिर खर्च करता है और बाद में Tax भरता है जबकि Corporation में काम करने वाले Worker कमाते है, फिर Tax भरते है और बाद में खर्च करते है। बस यही सबसे बड़ा फायदा है Corporation के मालिके होने का।

मतलब ये है की हमें ये पता होना चाहिए की कैसे हम अपने पेसो को Invest करके ज्यादा Tax को बचा सकते है।

Post a Comment

0 Comments